आवास बंधु

आवास बंधु की आवश्यकता

शहरी कानूनों की बहुतायत शहरी जनसंख्या के लिए हमेशा से एक दुःस्वप्न रही है। आधिकारिक कार्यों में जानकारी एवं पारदर्शिता का आभाव कुछ ऐसे घटक थें जो ऐसे मामलों को जन्म देते हैं एवं इसके लिए जिम्मेदार हैं। काफी बड़ी तादाद में अनुश्रवण एवं मूल्यांकन उद्देश्य के लिए डाटा, क्षेत्र एवं आबादी की विस्तृत कवरेज, आंतरिक-विभागीय संबंध, प्रशासन एवं जनता के बीच अप्राप्यता आदि कुछ ऐसे घटक थें जिनके कारणवश इस संस्था की स्थापना की आवश्यकता पड़ी जिसके परिणामस्वरूप प्रशासन, विभिन्न विभागों एवं जनता के बीच सामंजस्य स्थापित हो सके। इसके अतिरिक्त तकनीकि विशेषज्ञों की जानकारी को बढ़ावा देने के लिए इस संस्था की स्थापना की आवश्कता पड़ी, ताकि प्रशासन-जन मानस के रिश्तों में नए विचारों का प्रवाह किया जा सके।

आवास बंधु की स्थापना

“आवास बंधु” की स्थापना सन् 1997 में बतौर सर्वोच्च संस्थान के रूप में आवस एवं शहरी नियोजन विभाग के अंतर्गत करी गई थी, जिससे आवासीय सेक्टर की कार्यप्रणाली की निगरानी करी जा सके एवं अधीनस्थ विभाग/एजेंसी अर्थात नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग, उत्तर प्रदेश, विकास प्राधिकरणों एवं उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद की गतिविधियों में समन्वय स्थापित किया जा सके। सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के अंतर्गत आवास बंधु एक पंजीकृत सोसाइटी है जो निम्न गतिविधियों का निष्पादन करती है:-

  • जो आवास एवं नगरीय नियोजन विभाग में निजी सेक्टर की भागीदारी एवं सेक्टर में सुधार करने के लिए स्थापित किया गया है।
  • जो आवासीय एवं नगरीय नियोजन विभाग के विचारक के रूप में कार्य करती है।
  • जो विकास प्राधिकरणों एवं आवासीय परिषद को मजबूत बनाता है, जिसके परिणामस्वरूप उनकी कार्यप्रणाली और बेहतर हो सके।
  • प्रशासन
  • विकास प्राधिकरण
  • उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद
  • नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग
  • आवास संघ
  • बिल्डर्स / उपनिवेशवादी
  • आवासीय संस्थाएं

आवास बंधु का उद्देश्य

मुख्य उद्देश्य निम्न प्रकार हैं:

  • नियोजित विकास एवं आवास में आने वाली समस्याओं का उचित समय पर समाधान किया जाना।
  • आवास एवं विकास में निजी निवेश को बढ़ावा देना एवं विकास को सुदृढ़ बनाना।
  • योजनाओं के निष्पादन एवं क्रियान्वयन में होने वाली समस्याओं का समाधान करना एवं प्राधिकरणों एवं आवासीय एवं विकास परिषद को फैसिलिटेटर के रूप में बढ़ावा देना।

आकस्मिक एवं सहायक उद्देश्य निम्न प्रकार हैं:

  • राज्य आवासी नीति के अनुपालन में आवासीय योजनाओं के निष्पादन के संबंध में आने वाली समस्याओं का समाधान करना,
  • आवासीय योजनाओं पर प्रख्यात विशेषज्ञों एवं प्राधिकरणों से परामर्श लेना एवं आवासीय परियोजनाओं के निष्पादन के बेहतर तरीके ढूंढना
  • आवासीय परियोजना पर व्यय में इकोनॉमी को प्रभावी बनाने हेतु नियमित शोध का आयोजन करना
  • इंफ्रास्ट्रक्चर हेतु अन्य तरीके खोजना एवं बाहरी विकास में उत्पन्न होने वाली समस्याओं का समाधान ढूंढना
  • विभिन्न आय समूहों के लिए आवासीय परियोजनाओं पर कार्य करने हेतु निजी बिल्डरों को बढ़ावा देना एवं प्रोत्साहित करना एवं जनसाधारण की आवश्यकतानुसार घरों का निर्माण करना, एवं
  • विकास प्राधिकरणों एवं उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद हेतु फंड के इस्तेमाल पर निगरानी रखना।

आवास बंधु के कार्य

आवास बंधु द्वारा किये जाने वाले कार्य:-

  • आवासीय सेक्टर की समस्याओं एवं चुनौतियों को अभिनव उपाय प्रदान करना।
  • सरकार को सभी तकनीकि मुद्दों पर सहायता प्रदान करना।
  • विकास प्राधिकरणों एवं आवासीय परिषद के भौतिक एवं वित्तीय कार्यों का अनुश्रवण एवं मूल्यांकन करना।
  • सरकार द्वारा शुरु किए गए सभी प्रमुख कार्यक्रमों का अनुश्रवण करना।
  • प्रक्रियाओं को आसान बनाना।
  • प्रणाली सुधार एवं प्रबंधन सूचाना प्रणाली।
  • जनता की शिकायतों का निवारण।
  • प्रशासन की नई नीतियों/कार्यक्रमों हेतु कार्यशालाओं एवं प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन करना एवं वर्तमान कार्यक्रम।
  • आवासीय सेक्टर सुधार की सूचना का आवासीय नीति शोध, संग्रह, प्रकाशन एवं प्रसार करना।

© कॉपीराइट 2018 आवास बंधु

यह वेबसाइट ओमनी नेट द्वारा डिजाइन व डेवलप की गई है।